10 Benefits Of Drumstick: सहजन खाने के 10 फायदे

10 Benefits Of Drumstick: Pregnancy, पेट की समस्या, Cholesterol इत्यादि की समस्याओं को दूर करने के लिए सहजन या Drumstick एक रामबाण इलाज है। Drumstick या सहजन को Moringa Oleifera Lam या सिर्फ Moringa के नाम से भी जाना जाता है। Drumstick या सहजन को विभिन्न तरह से किया जाता सकता है। Moring/Drumstick या सहजन के बारे में अधिक जानने के लिए article को पूरा पढ़ें..

Uses Of Drumstick: सहजन के उपयोग

सहजन का उपयोग India के अलावा अन्य कई देशों में भी अलग अलग प्रकार से किया जाता है। मुख्य रूप से सहजन की सब्जी या Sambhar में इसका सबसे ज्यादा किया जाता है। इसके अलावा शरीर में होने वाली विभिन्न समस्याओं की ठीक करने जैसे हीमोग्लोबिन को बेहतर बनाने में, रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने इत्यादी में सहजन के फायदे (Benefits Of Drumstick) हैं। Drumstick Ke Fayde जानने के लिए लेख को पूरा पढ़ें…

सहजन के फायदे : 10 Benefits Of Drumstick

1. कैंसर की रोकथाम में सहजन के फायदे – Benefits Of Drumstick In Cancer

सहजन (Moringa) की छाल एवं सहजन की पत्तियों में एंटी-कैंसर और एंटी-ट्यूमर गुण पाए जाते हैं (1)। साथ ही पत्तियां पॉलीफेनोल्स (Polyphenols) और पॉलीफ्लोनोइड्स (Polyflavonoids) से समृद्ध होती हैं, जो एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-कैंसर यौगिक होते हैं, जो कैंसर की बीमारी होने से काफी हद तक रोक सकती है। (2)(3)

2. Liver Problems में सहजन खाने के फायदे – Drumstick Benefits For Liver Health In Hindi

सहजन की फली व पत्तियों क्वारसेटिन (Quercetin) नामक फ्लैवनॉल होते हैं, जो हेपाटोप्रोटेक्टिव (Hepato-Protective) की तरह कार्य करते हैं, जो Liver को कई सारी problems से बचाता है। (4)

3. सहजन के फायदे एनीमिया में – Moringa Benefits In Hindi

सहजन की छाल या इसकी पत्तियों का सेवन करने से एनीमिया यानी लाल रक्त कोशिकाओं की कमी को पूरा किया जा सकता है। सहजन की पत्तियों के एथनोलिक एक्सट्रैक्ट (Ethanolic Extract) में एंटी-एनीमिया गुण मौजूद होते हैं और इसके सेवन से हीमोग्लोबिन के स्तर में सुधार हो सकता है, जिससे लाल रक्त कोशिकाओं (Red Blood Cells) के उत्पादन में मदद मिल सकती है। (5)(6)

4. मधुमेह में सहजन खाने के फायदे – Drumsticks In Diabetes In Hindi

सहजन की फलियों, छाल और अन्य भागों में एंटी-डायबिटिक गुण मौजूद होते हैं, जो मधुमेह (Diabetes) के स्तर को कम कर सकते हैं (7) (8)। डॉक्टर की सलाह से सहजन की पत्तियों की टैबलेट का भी सेवन किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें – Diabetes में करेला का जूस पीने के फायदे

5. हृदय के मरीजों के लिए लाभदायक है सहजन की पत्ती – Drumstick Leaves Benefits In Hindi

सहजन की पत्तियों में एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो शरीर में इंफ्लेमेशन के कारण होने वाली समस्याओं से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। साथ ही सहजन की पत्तियों (Drumstick Leaves) में मौजूद बीटा कैरोटीन (β carotene) एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य कर हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है (9)।

6. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है सहजन – Benefits Of Drumstick In Hindi

सहजन की फली या इसकी पत्तियों के सेवन से इम्यूनिटी में सुधार हो सकता है। इसका संतुलित मात्रा में सेवन रोग-प्रतिरोधक क्षमता में सुधार कर सकता है।

7. सहजन के फायदे मस्तिष्क के लिए – Drumstick Benefits For Brain In Hindi

मस्तिष्क संबंधी बीमारी जैसे – अल्जाइमर (Alzheimer’s Disease- भूलने की बीमारी), पार्किंसंस (Parkinson’s Disease- सेंट्रल नर्वस सिस्टम से जुड़ा विकार ) आदि समस्याओं से बचने के लिए सहजन का उपयोग किया जा सकता है। यह नोओट्रॉपिक (Nootropics- मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए एक तरह की दवा) की तरह काम कर सकता है, यानी मस्तिष्क संबंधी परेशानियों को दूर करने में मदद कर सकता है (10)।

8. हड्डियों के लिए सहजन खाने के फायदे – Benefits Of Moringa In Hindi

Drumstick में भरपूर मात्रा में कैल्शियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस होता है जो हड्डियों के लिए जरूरी पोषक तत्व हैं (11) (12)। इसके अलावा, इसमें एंटी-ऑस्टियोपोरोटिक (Anti-Osteoporotic) गुण भी होते हैं, जो ऑस्टियोपोरोसिस जैसी हड्डी की बीमारी के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं।

9. मोटापे को कंट्रोल करने में मदद करता है – Drumstick Benefits In Hindi

सहजन की फली या पत्तियों को शामिल कर बढ़ते वजन की परेशानी को कुछ हद तक नियंत्रित कर सकते हैं। इसमें क्लोरोजेनिक एसिड (Chlorogenic Acid) मौजूद होता है, जिसमें एंटी-ओबेसिटी गुण मौजूद होते हैं, जो मोटापे को कम कर सकते हैं (10)।

10. पेट की समस्याओं में सहजन के फायदे – Drumstick Benefits For Stomach In Hindi

सहजन या सहजन की पत्तियों के उपयोग से पेट दर्द व अल्सर जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है (13) क्यों इसमें एंटी-अल्सर गुण मौजूद होते हैं। साथ ही सहजन की छाल भी पेट के लिए उपयोगी है, यह पाचन क्रिया में सुधार करने में मदद कर सकती है।

Note: ध्यान रखें किसी भी गंभीर बीमारी, एलर्जी व प्रेग्नेंसी इत्यादि में सहजन की फली, पत्तियां या Drumstick Tablets का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। इसमें इसोथियोसीयानेट (Isothiocyanate) और ग्लाइकोसाइड सायनाइड (Glycoside Cyanides) नामक विषैले तत्व होते हैं, जो तनाव को बढ़ा सकते हैं और इसके एंटीऑक्सीडेंट असर को कम कर सकते हैं। इसलिए, इसका सेवन संतुलित मात्रा में करें। (14)

Sources:

1. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6261394/
2.https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4545797/#:~:text=In%20summary%2C%20the%20GC%2DMS,HCT%2D8%20cancer%20cell%20lines.
3.https://www.researchgate.net/publication/6708493_Moringa_oleifera_A_food_plant_with_multiple_medicinal_uses
4. Bioactive Components in Moringa Oleifera Leaves Protect against Chronic Disease – PMC (nih.gov)
5.Moringa Genus: A Review of Phytochemistry and Pharmacology – PMC (nih.gov)
6.(PDF) Anti-Anemia Effect of Standardized Extract of Moringa Oleifera Lamk. Leaves on Aniline Induced Rats (researchgate.net)
7. (PDF) Health Benefits of Moringa oleifera (researchgate.net)

8.(PDF) Moringa oleifera: A food plant with multiple medicinal uses (researchgate.net)
9.Bioactive Components in Moringa Oleifera Leaves Protect against Chronic Disease – PMC (nih.gov)
10.Bioactive Components in Moringa Oleifera Leaves Protect against Chronic Disease – PMC (nih.gov)
11.[PDF] Effect of Moringa Oleifera on Bone Density in Post‐Menopausal Women | Semantic Scholar
12.The role of nutrients in bone health, from A to Z – PubMed (nih.gov)
13.Moringa Genus: A Review of Phytochemistry and Pharmacology – PMC (nih.gov)
14.133-140 (ijpp.com)


Leave a Reply